श्रेणी : भाषा

हाँ भई हाँ भिड़ू!

तकिया कलाम या अंग्रेज़ी में कैचफ़्रेज़, आम तौर पर बार बार कहने की आदत या वह शब्द या वाक्यांश जो कुछ लोगों की ज़बान पर बातचीत करने पर...

अधिक पढ़ें

ककहरे का कलश

क देवनागरी लिपि का पहला व्यंजन है और क वर्ग का पहला वर्ण ,जहाँ बारहखड़ी ख़त्म हो जाती है, वहाँ से ककहरा शुरू हो जाता है, कई साल पहले...

अधिक पढ़ें

अंजुमन में ‘अं’ का अंबार

आइये! अब हम ‘अं’ अक्षर वाले बनने वाले शब्दों की व्याख्या देखे, जी हाँ आपका अंदाज़ा सही है, यह अंदाज़ है देवनागरी लिपि के बारहवें स्वर...

अधिक पढ़ें

‘और’, ‘और’ की ‘औ’ टेक

आइये! अब हम ‘औ’अक्षर वाले बनने वाले शब्दों की व्याख्या देखे, औसतन बात इतनी है कि हम उस ‘औ’ को जानेंगे, जो हिंदी वर्णमाला का ग्यारहवाँ...

अधिक पढ़ें

जब किसी को पुकारा, कहा ‘ओsss!’

आइये! आज हम ओ अक्षर वाले बनने वाले शब्दों की व्याख्या देखे, 'ओ’ देवनागरी वर्णमाला का दसवा स्वर,कई बार लिखने वालों ने ‘ऊँ’ को ‘ओम्’...

अधिक पढ़ें

‘ऐ’ पर कर लें ऐतबार

'ऐ' देवनागरी वर्णमाला का नवाँ स्वर,भाषाविज्ञान की दृष्टि से यह दीर्घ, अग्र, अवृत्तमुखी, अर्धसंवृत स्वर है और घोष ध्वनि है, इसके उच्चारण...

अधिक पढ़ें

एतदनुसार एक ‘ए’ की कथा

आइये! आज हम ए अक्षर वाले बनने वाले शब्दों की व्याख्या देखे, वैसे हम जिस ‘ए’ की बात कर रहे हैं वह देवनागरी वर्णमाला का आठवाँ स्वर है,...

अधिक पढ़ें

ऊ की ऊँट गाड़ी पर...

आइये! आज हम ऊ अक्षर वाले बनने वाले शब्दों की व्याख्या देखे, ऐसा ही है यह अपनी तरह का अनूठा ऊ, वैसे तो देवनागरी वर्णमाला का छठा स्वर...

अधिक पढ़ें

‘उपहास’ में मत लीजिए ‘उ’ को

उ देवनागरी वर्णमाला का पाँचवा स्वर है, आइये! आज हम उ अक्षर वाले बनने वाले शब्दों की व्याख्या देखे, ‘उच्च कुलीन’ होना मतलब केवल ‘उच्च...

अधिक पढ़ें

हम ‘ई’ से ईमान रखने नहीं, बेचने लगे

ई देवनागरी वर्णमाला का चौथा स्वर है, आइये! आज हम ई अक्षर वाले बनने वाले शब्दों की व्याख्या देखे, ई से बनने वाले शब्दों की रचनात्मक...

अधिक पढ़ें

यह ‘इ’, देखन में छोटी लगे, घाव करे गंभीर

इ देवनागरी वर्णमाला का तीसरा स्वर है, इ से बनने वाले शब्दों की रचनात्मक व्याख्या, छोटी ‘इ’ भले ही दिखने में छोटी हो लेकिन जैसे घाव...

अधिक पढ़ें

‘अ’ से ‘आ’ तक

जाने! केवल 'आ’ से कितने शब्द है और कितने अर्थ निकलते है, आ से आत्मकथ्य, आमूलचूल परिवर्तन, आज़माइश, आवागमन, आगाज़ और आमद, आ से आत्मकथ्य...

अधिक पढ़ें

आधा सच

जाने! केवल ‘अ’ से कितने अर्थ निकलते है, ‘अ’ से शुरू हुई एक अधूरी यात्रा, आधी दुनिया का आधा सच, बारहखड़ी का ‘अ’, ‘अ’ से अजनबी, अनंत...

अधिक पढ़ें